Sunday, May 19, 2024
No menu items!

नौ देवी मंदिर: इस स्थान पर भक्तों की सभी मनोकामनाएं होती हैं पूरी

Must Read

नमस्कार मित्रो कैसे है आप सब आशा करते है कि आप सभी बहुत अच्छे होंगे। मित्रो साहूकारा स्थित नौ देवी का मंदिर 53 साल पुराना है। यह शहर का एकमात्र मंदिर है जिसमें नौ विभिन्न स्वरूपों में मां दुर्गा की प्रतिमाएं स्थापित हैं। इस मंदिर का अत्यधिक महत्व है। नौ दिनों के प्रत्येक में, लोग नवदुर्गा मंदिर में मां दुर्गा के दर्शन करने जरूर जाते हैं। यहां पर मांगी गई प्रार्थनाओं को साकार किया जाता है।

मंदिर के पुजारी, योगी किशोर नाथ, बताते हैं कि 10 अक्टूबर 1966 को उनके गुरु, योगी काशीनाथ जी को नव दुर्गा मंदिर की स्थापना का शुभारंभ किया गया था। दो दिनों बाद, उन्हें अनुभव हु

नौ देवी मंदिर: इस स्थान पर भक्तों की सभी मनोकामनाएं होती हैं पूरी
नौ देवी मंदिर: इस स्थान पर भक्तों की सभी मनोकामनाएं होती हैं पूरी

आ कि मां भगवती उनसे कह रही हैं कि एक नहीं, नौ प्रतिमाओं की स्थापना करें। इसके बाद, उन्होंने साहूकारा में एक स्थान पर छप्पर डालकर मां के भजन कीर्तन की प्रारंभ किया। धीरे-धीरे यह खबर शहर में फैल गई और लोगों ने मंदिर के निर्माण के लिए दान देना शुरू कर दिया। 3 मार्च 1968 को, माघ शुक्ल बसंत पंचमी के दिन, विधिवत अर्चना के साथ मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा की गई।

एक दिन, योगी काशीनाथ जी ने अपने गुरु से कहा कि उन्हें माता के सम्मुख प्रकट करें। उन्होंने माता की ओर देखकर कहा कि जिस प्रकार से 14 माह में सपना साकार किया गया है, वैसे ही इस दरबार में कोई भी निराश होकर नहीं जाएगा। इसके बाद, मां की दिव्य झांकी का दर्शन हुआ और हजारों लोगों की जय माता की ध्वनि से आकाश में गूंजा।

सुबह पांच बजे से होगी आरती। पुजारी योगी किशोर नाथ बताते हैं कि सुबह चार बजे से ही भक्तों का आना शुरू होता है। पांच बजे आरती के समय मंदिर में खड़े होने की जगह नहीं बचती है। सुबह सात बजे से नौ बजे तक कलश स्थापना होती है। 11 बजे से शाम तक, महिलाएं भजन कीर्तन करती हैं। शाम सात बजे, आरती के समय, श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़ जाती है।

भक्त लाइन में लगकर दर्शन कर सकेंगे। इस बार, नौ देवी मंदिर में रेलिंग लगाई गई है। इससे भक्त भीड़ से बचकर आराम से लाइन में लगकर दर्शन कर सकेंगे। भक्तों की सुविधा के लिए, पहली रेलिंग लगाई गई है। मंदिर में सीसीटीवी भी लगाई गई है। जिससे कोई भी घटना कैमरे में रिकॉर्ड हो सकती है। मंदिर के आसपास, फूल, प्रसाद आदि की दुकानें रात में सज जाती हैं।

नव दुर्गा मंदिर की साफ़ सफाई रात में की जाती है। वही बरेली शहर के देवियों के मंदिर की सफाई के लिए, नगर निगम के कर्मचारी रात के समय मंदिर के आसपास के क्षेत्रों की सफाई करते हैं। किसी भी घटना के मुख्यतम समय पर संभालने के लिए, पुलिस भी तैनात रहती है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs):

  • क्या मंदिर के पास पार्किंग की सुविधा है? हां, बरेली नौ देवी मंदिर के पास पार्किंग की सुविधा है। यहाँ पर आप अपने वाहन को आसानी से पार्क कर सकते हैं।
  • क्या मंदिर में फोटोग्राफी की अनुमति है? हां, मंदिर में फोटोग्राफी की अनुमति है। लेकिन, कृपया मंदिर के नियमों का पालन करें और अन्य भक्तों का आदर करें।
  • क्या धार्मिक आयोजनों के लिए प्राथमिकता प्राप्त की जा सकती है? हां, धार्मिक आयोजनों के लिए प्राथमिकता प्राप्त की जा सकती है। आप मंदिर के प्रबंधन से संपर्क करके आयोजन के लिए विवरण प्राप्त कर सकते हैं।
  • क्या मंदिर में भोजन की सुविधा है? हां, मंदिर में भोजन की सुविधा होती है। यहाँ पर आप विश्राम करते समय आहार का आनंद उठा सकते हैं।
  • क्या मंदिर में संगीत संध्या आयोजित की जाती है? हां, कई बार मंदिर में संगीत संध्या आयोजित की जाती है। यहाँ पर भक्तों को आनंद और संतोष के लिए संगीत का आनंद लेने का मौका मिलता है।
  • क्या यहाँ पर स्वास्थ्य सेवाएँ उपलब्ध हैं? हां, मंदिर में स्वास्थ्य सेवाएँ उपलब्ध हैं। यहाँ पर चिकित्सा कैंप्स और स्वास्थ्य जांच की सुविधा प्राप्त है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

सालों से लाजवाब स्वाद! बरेली के इस चाट भंडार में हर एक आइटम स्वादिष्ट Great taste for years! Every item in this chaat store...

नमस्कार मित्रो कैसे है आप सभी आशा करते है आप सभी बहुत अच्छे होंगे। मित्रो वैसे तो भारत का...

More Articles Like This